Sunday, December 23, 2012

सावरकर और गाँधी

सावरकर जी 5585 दिन प्रत्यक्ष कारागार में, 4865 दिन नजरबंदी में रहे... दोनों को मिलकर 10410 दिन (28 वर्ष 200 दिन) आत्मार्पण के दिन तक उन पर गुप्तचरों का पहरा रहता थाl


गाँधी को कुल 7 वर्ष और 10 महीनो का कारावास का दंड दिया गया, जिसमे 905 दिन का कारावास उन्हें भुगतना पड़ा और 1365 दिनों के लिए स्थानबद्ध किया गया, अर्थात उन्हें कुल 2270 दिन (6 वर्ष 80 दिन ) कारावास में काटने पड़े, इनमे से अधिकतर समय वे प्रथम श्रेणी के विशिष्ठ बंदी रहे
 
एक अंग्रेज जेलर ने अपनी आत्मकथा में लिखा है की एक कैदी के लिए पहली बार सरकार से ऐसे आदेश प्राप्त होते थे की कारागार की सलाखैएँ बंद न की जाएँ.. कहीं गाँधी जी को बुरा न लग जायेl तो दूसरी और सावरकर को सजा मिलती थी सारा दिन कोल्हू चला कर 30 लीटर तेल निकलने का... निरंतर... लगातार ... अथक ... यदि कम रह गया तो फिर कोड़ों की सजा मिलती थीl

No comments:

Post a Comment

लिखिए अपनी भाषा में